A genuine question 1 July 2019

१ जुलै २०१९ – पडलेला प्रश्न……..

For other Flash Posts please visit this link

2 replies
  1. Shilpa Khare
    Shilpa Khare says:

    और अगर हमसे कोई ऐसा बरताव करें तो उन्हे उनके हाल पे छोड देना चाहिए, ये समझकर के वो आपके प्यार के काबिलही नहीं…..

    Reply
  2. Shilpa Khare
    Shilpa Khare says:

    “Nations do not have permanent friends or foe . They only have permanent interests… Intentions can change any time..”
    Nathula pass chya एका भिंतीवर लिहिलेलं वाक्य!
    It’s so true for human relationships too, specially in today’s social media.
    Masrufiyat के नाम पे छोड दिया जाए वो नाता ही कैसा?! वो तो महज एक पहचान हुई. पहचान एक भावनात्मक नाते में तपदील होने में कुछ समय बीतता है…
    बेशक आजकल हर shakhs अपने उल्झानों में masruf है….लेकीन जब किसीसे रि श्ता हो उसे आधा अधुरा छोडना गलत है.

    Reply

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*