Sachcha Pyar

सच्चा प्यार

चासनी मे गहराई तक डूबे रसगुल्लेसे
खुद चासनी किसी रोज पुछे
मिठास का मतलब
तो बौखला जाएगा वो जिस कदर
बिलकुल उसी तरह
बौखला जाता हुं मैं भी,
जब जब तेरे वजूदमें
दिवानगी की हद तक डूबी
मेरी रुहको शिद्दत भरी निगाहोंसे
पुछती हो तुम
‘सच्चा प्यार भी होता है क्या??
‘ – गुरु ठाकुर

3 replies
  1. Snehal
    Snehal says:

    चासनी मे गहराई तक डूबे रसगुल्लेसे
    खुद चासनी किसी रोज पुछे
    मिठास का मतलब

    वाह

    Reply

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*